Competitions organized at Panjab University, Chandigarh on 10th August 2022

panjab university

Chandigarh, Aug 10

Various competitions were organized at Panjab University, Chandigarh on 10th August 2022 under the joint aegis of University School of Open Learning and National Service Scheme. In which students from various colleges participated. In these competitions, all the students participated in different activities on the theme of Har Ghar Tiranga.

In which Priyanshu got first, Ridham Singh Randhawa got second, Amanpreet Kaur got third place in slogan writing competition. Apart from this, Rhythm Singh Randhawa stood first, Priyanka and Sanjay second and Palak Goyal third in poster making. In the same Rangoli competition, Diksha and Naman got first place. In this program, a street play was organized under the leadership of Hargobind Singh Randhawa on the theme of ‘Har Ghar Tiranga’, whose main objective was to awaken the feeling of patriotism among the citizens.

Giving information, the coordinators of this program, Dr. Richa Sharma and Dr. Reena Chaudhary, said that very good performance was done by all the students in this program. This program was organized by the Head of the Department of University School of Learning, Prof. Directed by Neeru. Other staff members were also present on this occasion.

  • Pawan Bansal raises concerns over distressed market in sector-38 
    challenges BJP Govt. to address shopkeepers’ Woes Chandigarh (27 Feb, 2024): Senior Congress leader and former Member of Parliament, Pawan Bansal, was left astonished after witnessing the deteriorating condition of Sector 38’s two-story market during his visit on Tuesday. He interacted with shopkeepers who informed him about the distressing situation, revealing that notices ranging from 24 to 32 lakhs were being issued by the administration for booths valued at approximately 6 lakhs. Shopkeepers explained that under the rehabilitation scheme, the Chandigarh administration had allocated booths in the two-story market of Laxmi Market, Sector 38, to those operating in the rehri market. However, this market is situated in such a location that even sunlight does not penetrate. With daily earnings not exceeding 200 rupees, and on top of that, the administration imposing an area penalty, GST, and notices ranging from 24 to 32 lakhs on booths valued at around 6 lakhs, the shopkeepers are facing an uphill battle. They are left with the choice of either arranging for their livelihood or paying penalties. Pawan Bansal assured these shopkeepers, stating that if the residents of Chandigarh choose him again, he will prioritize finding solutions to the issues facing this market. Bansal emphasized …
  • राज्यपाल ने किया मातृवन्दना पत्रिका के विशेषांक का विमोचन
    राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल ने आज शिमला के ऐतिहासिक गेयटी थियेटर में मातृवन्दना मासिक पत्रिका विशेषांक एवं दिनदर्शिका का विमोचन किया। उन्होंने कहा कि इस तरह की पत्रिका का अलग महत्व होता है और इनके माध्यम से हम अपने गौरवशाली इतिहास, अतीत एवं संस्कृति के बारे में ज्ञान अर्जित करते हैं।उन्होंने कहा कि मातृवन्दना पत्रिका पाठकों के लिए सम-सामयिक विषयों पर महत्वपूर्ण आलेख प्रकाशित कर रही है। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की कि पत्रिका का यह विशेषांक श्री राम जन्मभूमि और भगवान श्री राम को समर्पित किया गया है। उन्होंने कहा कि श्री राम मंदिर के निर्माण से भारतीय संस्कृति के लिए एक नए युग की शुरुआत है।राज्यपाल ने इस अवसर पर राम मंदिर के कार सेवकों को सम्मानित किया।इस अवसर पर अनेक गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।.0.
  • MISSION ROZGAR: CM ILLUMINATES LIFE OF MORE 40,000 FAMILIES BY GIVING THEM GOVERNMENT JOBS IN NEARLY LAST TWO YEARS
    MISSION ROZGAR: CM ILLUMINATES LIFE OF MORE 40,000 FAMILIES BY GIVING THEM GOVERNMENT JOBS IN NEARLY LAST TWO YEARS Chandigarh, February 26- Punjab Chief Minister Bhagwant Singh Mann on Monday continued Mission Rozgar by handing over appointment letters to 457 newly recruited youth in various departments thereby illuminating the lives of more than 40,000 families since formation of government. The Chief Minister, while addressing the gathering after handing over the appointment letters, said that the state government is making concerted efforts for making the youth an integral part in socio-economic progress of the state. He said that this a fertile land where anything can germinate as people are blessed with an indomitable spirit of hard work, dedication and resilience. Bhagwant Singh Mann said that this land has immense potential due to which the state government is making strenuous efforts to make Punjab a frontrunner state in the country. The Chief Minister said that today 20 Junior draftsman in Water Supply and Sanitation department, 32 employees including Dairy Development officers, clerks, incubator operators and Machine Operators in Animal Husbandry department, six steno-typists in Youth services department, 129 employees including clerk legal, accounts and IT IN Excise and Taxation department, eight steno-typists in Food, Civil Supplies and …
  • देश भगत विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने शेफ प्रतियोगिता में पहला पुरस्कार जीता
    देश भगत विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने शेफ प्रतियोगिता में पहला पुरस्कार जीता चण्डीगढ़ : देश भगत विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ होटल मैनेजमेंट और पर्यटन के छात्रों ने एवरेस्ट कुलिनरी चैलेंज सीज़न-5 में पंजाब क्षेत्र के लिए चण्डीगढ़ ग्रुप आफ कॉलेजेज में आयोजित बेकरी शेफ प्रतियोगिता में पहला पुरस्कार जीता। कड़ी प्रतियोगिता में प्रतिस्पर्धा करते हुए देश भगत विश्वविद्यालय की चार टीमों ने अपनी पाक-कला का प्रदर्शन किया। टीमों में काजल और कसक, लक्ष्मी कुमारी और अदिति, जसप्रीत और अर्सप्रीत, और खसुदीप और मानसी गर्ग शामिल थीं। काजल और कसक साथ ही लक्ष्मी कुमारी और अदिति ने रसोई खाने के सेगमेंट में भाग लिया, जबकि जसप्रीत और अर्सप्रीत के साथ ही खसुदीप और मानसी गर्ग ने बेकरी के इवेंट में अपनी कलाओं का प्रतिनिधित्व किया। खसुदीप कौर और मानसी गर्ग की जोड़ी ने अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन  से पहला स्थान हासिल किया। उन्होंने अपनी माहिरी का प्रदर्शन करते हुए जजों और सह-प्रतियोगियों को एक बेहतरीन केक तैयार करके दिखाया। अब इस सीज़न 5 का बड़ा अंतिम दौरा मार्च में मुंबई में होने जा रहा है, जिसमें सभी क्षेत्रों के विजेता टाइटल खिताब के लिए प्रतिस्पर्धा करेंगे। विजेताओं को चांसलर डॉ. जोरा सिंह और चांसलर के सलाहकार डॉ. विरिंदर सिंह द्वारा एक सम्मान …
  • परमपिता शिव अजन्मा, अभोक्ता हैं व उनका स्वरूप ज्योतिर्बिन्दु है :  बी के मुकेश दीदी-बी के शीना दीदी
    परमपिता शिव अजन्मा, अभोक्ता हैं व उनका स्वरूप ज्योतिर्बिन्दु है :  बी के मुकेश दीदी-बी के शीना दीदी चण्डीगढ़ : प्रजा पिता ईश्वरीय विश्व विद्यालय ब्रह्माकुमारीज, मनीमाजरा में शिव जयंती का पर्व अर्थ सहित बहुत धूमधाम से मनाया गया जिसमे सेक्टर 21 इंचार्ज राजयोगिनी बी के मुकेश दीदी जी और मनीमाजरा सेण्टर इंचार्ज बी के शीना दीदी दोनों की उपस्थिति में परमात्मा शिव के अवतरण का सन्देश सबको सुनाया गया एवं इस शुभ अवसर पर केक कटिंग और झंडा चढ़ाया गया तथा सेण्टर की रेगुलर स्टूडेंट्स द्वारा गीतों की प्रस्तुति भी दी गयी। कार्यक्रम में एक्स मेयर सरबजीत कौर, एक्स डेप्युटी मेयर जगतार सिंह जग्गा, आरडब्ल्यूए प्रेसिडेंट गुरसेवक सिंह, इमाम एमएचसी मनीमाजरा मस्जिद मौलाना अरशद, प्रेसिडेंट मार्केट कमेटी मनीमाजरा मलकीत सिंह, असिस्टेंट कमांडेंट सीआरपीएफ मनीमाजरा, एएसआई सुरजीत कौर, वाइफ ऑफ पंचकुला डीसी सोनिया सरवन, एक्स मेयर पंचकुला उपेंद्र अहलूवालिया, साधना वोकेशनल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट हेड कोऑर्डिनेटर विजया, डायरेक्टर एमआरडी स्कूल माता राम धीमान, वैदिक गर्ल्स स्कूल वाइस प्रिंसिपल रीमा, रिटायर्ड इंजीनियर एलके कौल, गवर्नमेंट मॉडल एमएचसी स्कूल इंचार्ज भूपिंदर कौर आदि मुख्य अतिथिगण के रूप में शामिल हुए।इस अवसर पर बी के मुकेश दीदी जी और मनीमाजरा सेण्टर इंचार्ज बी के शीना दीदी ने बताया कि विश्व की सभी महान विभूतियों …
  • Pawan Bansal Expresses Concerns Over Deteriorating Healthcare Services in Chandigarh Under BJP Rule
    Chandigarh (Feb 26, 2024): Former Member of Parliament and senior Congress leader, Pawan Bansal, has expressed concern over the deteriorating state of healthcare services in Chandigarh. From the largest hospital, PGIMER, to the smallest Health and Wellness Centers, the conditions are alarming, with a shortage of doctors and numerous problems faced by patients. Pawan Kumar Bansal remarked that under the BJP’s rule, the healthcare infrastructure is crumbling. He highlighted the recent resignation of both urology department doctors at Sector 32 hospital, emphasizing that no specialized doctor has been recruited so far. The lack of information on the hospital’s website compounds the issues, causing distress to patients seeking medical treatment. The larger hospitals, which are crucial for the entire tricity’s residents, are grappling with a shortage of specialist doctors. This healthcare crisis extends beyond major hospitals to smaller Health and Wellness Centers. The shortages range from doctors and pharmacists to rented buildings and accommodations, impacting the affected patients who cannot afford expensive treatments in private hospitals and do not find adequate facilities in government hospitals. This is a matter of grave concern. Pawan Bansal urged the government to address these deficiencies promptly to ensure the well-being of the residents who depend …
  • हरियाणा के राजकीय कॉलेजों में हजारों खाली पड़े सहायक प्रोफेसर्स के पदों पर पक्की भर्ती की मांग को लेकर 06 मार्च को पंचकूला  की सड़कों पर निकालेंगे मौन जुलूस: प्रोफेसर सुभाष सपड़ा
    पंचकूला , (26 फरवरी 2024) हरियाणा एस्पाइरिंग असिस्टेंट प्रोफेसर एसोसिएशन ( हापा) प्रदेश के राजकीय कॉलेजों में हजारों खाली पड़े सहायक प्रोफेसरों के पदों पर रेगुलर भर्ती की मांग को लेकर सैकड़ो नेट/स्कॉलर्स/टॉपर्स  06 मार्च को पंचकूला की सड़कों पर हरियाणा प्रदेश की गठबंधन सरकार को मौन जुलूस निकाल कर जगाने का प्रयास करेंगे।  हापा के संस्थापक सदस्य व हरियाणा राजकीय कॉलेज टीचर्स एसोसिएशन (HGCTA) के पूर्व प्रादेशिक उपाध्यक्ष प्रोफेसर सुभाष सपड़ा ने बताया कि हरियाणा में सरकार द्वारा वर्ष 2019 में कुल 524 पदों पर कुछ ही विषयों में आखिरी बार सहायक प्रोफेसर प्रोफेसरों की भर्ती की गई थी। आधे से अधिक विषय ऐसी भी हैं जिन पर वर्ष 2016 के बाद से अब तक भर्ती नहीं हुई है। जबकि प्रदेश सरकार ने रेगुलर भर्ती के संबंध में  पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय में एक हलफनामा देकर बताया था कि राज्य के राजकीय कॉलेज में सहायक प्रोफेसर प्रोफेसर के कुल 8137 पद स्वीकृत हैं, जिसमें से कुल 4738 पद रिक्त हैं अर्थात कुल का 60 फ़ीसदी   पोस्ट रिक्त हैं। सरकार पक्की भर्ती के नियमों में संशोधन का हवाला देकर इसे टालती आ रही थी।  अब जबकि प्रदेश सरकार की 3 जनवरी 2024 की केबिनेट मीटिंग में भर्ती के नियमों …
  • Project Amrit’ of Sant Nirankari Charitable Foundation
    ‘  – Satguru Mata Sudiksha Ji Maharaj  Chandigarh, February 26, 2024:- ‘Amrit Project’ Under the supervision of Chandigarh Sanyojak Sh. Navneet Pathak ji and area Mukhies, members of Nirankari Sewa Dal and Sadhsangat cleaned the surroundings of Sant Nirankari Satsang Bhawans of Sector 30-A, Sector 15 D, Maloya, Sector 45, Manimajra Shri Navneet Pathak ji told that  Inauguration of the second phase of ‘Clean Water, Clean Mind’ project under ‘Amrit Project’ under the holy patronage of Satguru Mata Sudiksha Ji Maharaj and Nirankari Rajpita Ramit Ji on the Chhath of Yamuna River.  Done from Ghat, I.T.O, Delhi. . Inspired by the teachings of Baba Hardev Singh Ji Maharaj, this project was organized on a large scale with the help of more than 11 lakh volunteers at more than 1533 places in 27 states and union territories across India.                 Taking inspiration from the eternal teachings of Baba Hardev Singh Ji, ‘Project Amrit’ was organized under the aegis of Sant Nirankari Charitable Foundation, the social wing of Sant Nirankari Mission.  This year, the project took the form of public awareness through the basic message of ‘Aao Swaare, Yamuna Kinare’.  Inaugurating the second phase of ‘Project Amrit’, Nirankari Rajpita Ramit Ji in his address before Satguru …
  • देश के बजट के दशमलव 4 प्रतिशत से दी जा सकती है किसानों को MSP, भाजपा ने बनाया अहंकार का मुद्दा’
    देश के बजट के दशमलव 4 प्रतिशत से दी जा सकती है किसानों को MSP, भाजपा ने बनाया अहंकार का मुद्दा’ किसान आंदोलन में शहीद हुए किसान शुभकरण को श्रद्धांजलि हेतु चंडीगढ़ यूथ कांग्रेस ने निकाला मशाल जुलूस चंडीगढ़ यूथ कांग्रेस द्वारा रविवार को किसान आंदोलन में शहीद हुए नौजवान किसान शुभकरण को श्रद्धांजलि देने व उनकी मौत के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्यवाही को लेकर मशाल जुलूस निकाला गया, इस मौके पर सीनियर नेता पवन बंसल भी मौजूद रहे।  एडवोकेट अतिन्दर जीत सिंह रोबी, सेक्रेटरी चंडीगढ़ यूथ कांग्रेस व अन्य युवा कार्यकर्ताओं ने मशालें हाथ में लेकर रोष प्रकट किया ।  सीनियर नेता पवन बंसल ने किसानों का पक्ष लेते हुए कहा कि किसानों को एमएसपी देने से देश के बजट में सिर्फ .04 प्रतिशत का इज़ाफ़ा होगा, ऐसे में एमएसपी देने में आनाकानी करना समझ से परे है, उन्होंने कहा कि यदि किसानों को एमएसपी मिलती है और देश में प्रचुर मात्रा में दालों की पैदावार होती है, तो उससे ना सिर्फ इम्पोर्ट में कमी आएगी, बल्कि फॉरेन एक्सचेंज की भी बचत होगी। लेकिन भाजपा ने इसे अहंकार का मुद्दा बना लिया है, और इसीलिए वो किसानों की मांगे मानने की बजाए उन पर ज़ुल्म ढहा रही है।